Home / Articles / दिल्ली में अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला में वेजले आउटलेट पर उमड़ी भीड़.
दिल्ली में अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला में वेजले आउटलेट पर उमड़ी भीड़.

दिल्ली में अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला में वेजले आउटलेट पर उमड़ी भीड़.

दिल्ली में 37 वीं अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला, सामान्य जनता के लिए खोला जा चूका है. 14-दिवसीय कार्यक्रम के पहले चार दिन व्यापारिक आगंतुकों को समर्पित होते है. अंतर्राष्ट्रीय मेले में प्रदर्शित होने वाले उत्पादों को देखने के लिए आगंतुकों को चारों ओर घूमते देखा जाता है.

इस वर्ष भारत व्यापार संवर्धन संगठन द्वारा आयोजित इस वार्षिक मेले में 3,000 प्रदर्शकों और प्रतिभागी लगभग 22 देशों ने अपने पैवेलियनों को स्थापित किया है।

14-दिवसीय कार्यक्रम प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के ‘स्टार्ट-अप, स्टैंडअप इंडिया’ परियोजना पर आधारित है ।

अगर आप इस बार मेले में जाने की सोच रहे है तो आपको बता दे आपको वेजले आउटलेट पर जरूर जाना है. अगर आप मांसाहारी है तो भी आपको वेजले के प्रोडक्ट्स चखने एक बार तो बनते है.

वेजले ने अपने प्रोडक्ट्स रेंज निकला है जो की आपको स्वाद में नॉन-वेग के कम नहीं लगेगा. जी हां, वेजले लेकर आ रहा वेग चिकन, वेग मटन टिक्का, वेग चिकन टिक्का, सींख कबाब, लेग पैसे, चिक्का – रोगन जोश के साथ बहुत सरे और प्रोडक्ट्स. हैरान हो गए न, पर ध्यान देने वाली बात ये है ये सरे प्रोडक्ट्स वेजीटेरियन है. जी हां, दोबारा पढ़िए वेजीटेरियन.

वेजले आपके लिए लेकर आ रहा वेजीटेरियन रेंज, जो की आपको नॉन-वेग का स्वाद देगा और उससे बेहतर होगा. आइये जानते है वेजले की शुरुआत करने वाले लछ्मण बजाज जी से वेजले और उनके प्रोडक्ट्स के बारे में:

बजाज जी ने कहा की उन्होंने वेजले की शुरुआत 4-5 वर्षो पहले की थी. उनके सुपुत्र ने बाहर जाकर रिसर्च किया और फिर वेजले के प्रोडक्ट्स रेंज लांच किये.

उनसे पूछने पर की उन्होंने सोया प्रोडक्ट्स को ही क्यों चुना? उन्होंने बताया, सोया बहुत ही सेहतमंद और नुट्रीटेंट से भरपूर होता है. आज देश में नॉन-वेग खाने वालो की संख्या बढ़ती जा रही है. परन्तु साथ साथ उनकी सेहत के साथ खिलवाड़ भी हो रहा है. आजकल नॉन-वेग ज्यादा प्रोडूस करने के लिए तरह तरह के इंजेक्शन और गलत प्रोटीन्स का इस्तेमाल किया जा रहा है, जो की खाने वाले पर गलत आसार डालेगा. इसलिय हमे सोया को चुना और सोया पर एक्सपेरिमेंट करके ये प्रोडक्ट्स लांच किये.

नॉन-वेग नाम से प्रेरित क्यों होने पर जवाब मिला, नॉन-वेजीटेरियन खाने वालो को आकर्षित करने का जरिया बनेगा और जो लोग सिर्फ स्वाद और नाम के लिए नॉन-वेग कहते है उनके लिए, उनकी सेहत के लिए बेहतरीन विकल्प है.

और इन प्रोडक्ट्स का दाम भी आपको 65 – 150 रूपये के बीच रखा गया है, और ये ३ महीने तक आप इस्तेमाल कर सकते है.

सोया प्रोडक्ट्स वेजीटेरियन होने के साथ साथ आपको यहाँ मैदा रहित, प्रोटीन युक्त, शाकाहारी मित्रवत (vegan-friendly), फ्रोजेन और नॉन-फ्रोजेन वेरायटीज में मिलेंगे.

ग्लूटेन फ्री रेंज में भी आपको सोया नूडली और सोया वेग्गेट मिलेंगे.

फ्रोजेन के प्रोडक्ट्स रेंज:

सोया चोप, सोया सीख कबाब, सोया शामी कबाब, सोया नगेट्स, सोया चिक्का – रोगन जोश, सोया इंडि फ्राइज, सोया स्लाइस, सोया लेग पीेछे, सोया बर्गर पैटी, सोया इटालियन पास्ता।

नॉन-फ्रोजेन के प्रोडक्ट्स रेंज:

सोया नूडली, सोया वेग्गेट, सोया इंडि चोप, सोया चिक्का।

द्वारका एक्सप्रेस आप सभी से आग्रह करता है, अगर आप इस बार व्यापर मेला का लुफ्त उठाने की सोच रहे है तो जाये और एक बार वेजले के प्रोडक्ट्स को जरूर चख कर आइये. और राष्ट्र को एक स्वस्थ राष्ट्र बनाने में मदद कीजिये.

लछ्मण बजाज द्वारा रवि टोंडक को दिए गए इंटरव्यू के कुछ अंश.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top
Free Email Updates
Get the latest content first.
We respect your privacy.